छूटी हुई ज़िंदगी

थोड़ी इधर थोड़ी उधर छोड़ता रहा गुजरती हुई जिंदगीइसी उम्मीद में कि जीयेंगे एकदिन फिर कभी पीछे मुड़ना तो अब असंभव सा हो गयाखुद को फिर से जीना एक सपना सा हो गया पहले छोड़ते थे, अब छूट जाता हैआता हुआ हर पल रेत सा फिसल जाता है जो जिया बस उसकी अब यादें साथContinue reading “छूटी हुई ज़िंदगी”

ऐ जिंदगी – आजा बात करते है

ऐ जिंदगी, चाय पर मिलेगी आज? आजा बैठ कुछ बात करते है अरसा हुआ तुझसे मिले हुए, आजा आज मिलते है, कुछ तेरी कुछ मेरी बात करते है तुझे देखता हूँ तेज भागते हुए, कहाँ जाती हो? चलती रहती हो हमेशा, थक नहीं जाती हो अगर थक जाओ कभी तो आना मेरे पास, बहुत वक़्तContinue reading “ऐ जिंदगी – आजा बात करते है”